ते      ज पत्ता हर भारतीय रसोई में आपको आसानी से मिल जाएगा। यह ऐसा मसाला है, जिसका इस्तेमाल व्यंजनों में जायका और खुशबू बढ़ाने के लिए किया जाता है। ये पत्तियां कुछ हद तक Eucalyptus की पत्तियों जैसी नजर आती हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि इसका इस्तेमाल कर कई शारीरिक बीमारियों से बचा सकता है। आयुर्वेद में इस औषधीय पत्ते के प्रयोग के कई लाभ बताए गए हैं। इसलिए, Google Today के इस आर्टिकल में हम बता रहे हैं कि तेज पत्ता किस प्रकार आपके स्वास्थ्य के लिए लाभदायक हो सकता है। साथ ही जानिए इसके इस्तेमाल के विभिन्न तरीके और कुछ नुकसान।

क्या है तेज पत्ता ?

  • तेज पत्ते का वैज्ञानिक नाम लॉरस नोबिलिस है।
  • यह एक सुगंधित पत्ता है.
  • जो लॉरस परिवार से संबंधित है।
  • खाने और औषधि में इसका उपयोग 1 हजार वर्षों से किया जा रहा है।
  • तेज पत्ते की 2400 से 2500 प्रजातियां हैं.
  • जिसमें से अधिकतर पूर्वी एशिया, दक्षिण व उत्तरी अमेरिका और एशिया में पाई जाती हैं।
  • इस पत्ते में Tannin, Flavon, Flavonoids, Alkaloids, Eugenol, Linalool और Anthocyanin शामिल हैं।
  • प्रजाति के अनुसार सभी के रासायनिक घटक अलग-अलग हो सकते हैं।
  • आमतौर पर मसाले, एसेंशियल ऑयल व पारंपरिक चिकित्सा में प्रयोग होने वाले इस पत्ते की दो प्रजातियां प्रयोग की जाती हैं – लॉरस एजोरिका और एल नोबिलिस।
  • तेज पत्ता का उपयोग इसके सूखने के बाद ही होता है।
  • इसके कई औषधीय गुण भी हैं.
  • जिनकी चर्चा हम आगे लेख में विस्तार से करेंगे।
Some Intresting Facts About Bay Leaf

तेज पत्ता का उपयोग – How to Use Bay Leaf 

स्वस्थ शरीर के लिए तेज पत्ते का उपयोग कई प्रकार से किया जा सकता है, नीचे जानिए इसके कुछ बेहतर उपयोग:

  • तेज पत्ता एक मसाला है.
  • इसलिए इसका इस्तेमाल व्यंजनों का जायका बढ़ाने के लिए किया जा सकता है।
  • बिरयानी, चिकन या मटन करी व पुलाव जैसे मसालेदार व्यंजनों में इसका इस्तेमाल ज्यादा किया जाता है।
  • तेज पत्ते को खीर जैसे मीठे पकवानों में भी डाला जा सकता है।
  • कई लोग Black Tea में भी तेज पत्ता इस्तेमाल करते हैं।
  • बालों के लिए आप एक कप पानी में कुछ तेज पत्ते उबालें और 15 मिनट के बाद पानी से पत्तों को निकाल लें।
  • ठंडा होने पर पानी को शैंपू के बाद बालों और स्कैल्प पर लगाएं।
  • बेहतर परिणाम के लिए एक दिन छोड़कर आप यह उपाय कर सकते हैं।
  • दर्द और सूजन से राहत पाने के लिए तेज पत्ते के तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • इसके लिए आप इसके तेल की कुछ बूंदें प्रभावित जगह पर लगाएं और हल्के हाथों से मालिश करें।
  • सर्दी-जुकाम और पाचन जैसी समस्या के लिए तेज पत्ते को उबालकर इसका पानी पिया जा सकता है।

तेज पत्ता के पौष्टिक तत्व – Bay Leaf Nutritional Value

पोषक तत्व मात्रा (प्रति 100 ग्राम)
Water 5.44 ग्राम
Energy 313 कैलोरी
Protein 7.61 ग्राम
Carbohydrate 74.97 ग्राम
Fat 8.36 ग्राम
Fiber 26.3 ग्राम
Calcium 834 मिलीग्राम
Iron 43.00 मिलीग्राम
Vitamin – C 46.5 मिलीग्राम

 

तेज पत्ता के फायदे – Benefits of Bay Leaf

श्वास तंत्र के लिए 

  • तेज पत्ता खाने के फायदे में खांसी, फ्लू , ब्रोंकाइटिस, अस्थमा व इन्फ्लूएंजा जैसी सांस से जुड़ी समस्याओं से राहत मिलना भी शामिल है।
  • तेज पत्ते के अर्क में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं.
  • इसलिए इसे सूजन कम करने में मददगार माना जा सकता है।
  • इसमें एथनॉलिक एक्सट्रैक्ट और कुछ अन्य कंपाउंड पाए जाते हैं.
  • जिसमें एंटीइंफ्लेमेटरी और दर्दनिवारक प्रभाव होता है।
  • इनके कारण तेज पत्ता श्वसन तंत्र में आई सूजन और उससे पैदा होने वाली बीमारियों से बचाव कर सकता है।

 सूजन कम करने में 

  • दर्द व सूजन के लिए भी तेज पत्ते के फायदे बहुत हैं।
  • एक ऑस्ट्रेलियाई अध्ययन में पाया गया है कि ये पत्तियां COX-2 नामक एंजाइम की गतिविधि को रोकने का काम कर सकती हैं।
  • इस एंजाइम के कारण शरीर में सूजन बढ़ सकती है।
  • इसके अलावा, इस पत्ते में मौजूद सिनेओल भी सूजन से लड़ने का काम कर सकता है।

फंगल इन्फेक्शन में

  • तेज पत्ता एंटीफंगल गुणों से भी समृद्ध होता है।
  • यह विशेष रूप से कैंडिडा एल्‍बीकैंस नाम के यीस्ट संक्रमण के खिलाफ प्रभावी रूप से काम कर सकता है।
  • इसलिए, त्वचा संबंधी फंगल संक्रमण के लिए तेज पत्ते का एसेंशियल ऑयल इस्तेमाल में लाया जा सकता है।
  • इस बात की पुष्टि एनसीबीआई की साइट पर उपलब्ध एक वैज्ञानिक शोध से होती है।
 इसे भी पढ़े : 

नारियल पानी पीने के फायदे उपयोग और नुकसान

जख्म ठीक करने में 

  • तेज पत्ता घाव को बेहतर रूप से भरने में मदद कर सकता है।
  • इस संबंध में एनसीबीआई की वेबसाइट पर एक वैज्ञानिक शोध मौजूद है।
  • इस अध्ययन के अनुसार, तेज पत्ते का अर्क ग्रेनुलेशन टिश्यू यानी जख्म को भरने में सहायक कनेक्टिव टिश्यू के विकास में मदद कर सकता है।
  • साथ ही तेज पत्ते का अर्क घाव को जल्दी भरने में सहायक हाइड्रॉक्सीप्रोलाइन जैसी जटिल रासायनिक क्रियाओं को भी बढ़ा सकता है।

कोलेस्ट्रॉल के लिए

  • कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम करने के लिए भी तेज पत्ते का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • एक शोध से इस बात की पुष्टि होती है कि तेज पत्ते से प्राप्त इथेनॉल अर्क कोलेस्ट्रॉल सीरम स्तर को कम करने में सहायक हो सकता है।
  • इस अर्क में कुछ फेनौलिक यौगिक होते हैं.
  • जो एंटीऑक्सीडेंट गतिविधि के चलते खराब कोलेस्ट्रॉल यानी एलडीएल को घटाने में सहायक हो सकते हैं।
  • वहीं, अच्छे कोलेस्ट्रॉल यानी एचडीएल का स्तर बढ़ता है।
  • कोलेस्ट्रॉल के नियंत्रित रहने से हृदय का स्वास्थ्य भी ठीक रहता है।
  • इस आधार पर कहा जा सकता है कि तेज पत्ते के सेवन से कोलेस्ट्रॉल और हृदय की कार्यप्रणाली ठीक रहती है।

तेज पत्ता के नुकसान – Side Effects of Bay Leaf

  • गर्भावस्था या स्तनपान के दौरान तेज पत्ते के सेवन के बारे में पर्याप्त विश्वसनीय जानकारी नहीं है.
  • इसलिए गर्भावस्था के दौरान इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।
  • यह मसाला खून में शुगर की उपस्थिति को प्रभावित कर सकता है।
  • इसलिए, मधुमेह के रोगी इसका सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करें।
  • ये पत्तियां एनेस्थीसिया की दवाओं के साथ रिएक्शन करके केंद्रीय तंत्रिका तंत्र (CNS) को धीमा कर सकती है।
  • इसलिए सर्जरी से कम से कम 2 सप्ताह पहले इनका सेवन रोक देना सही निर्णय साबित हो सकता है।
  • तेज पत्ता के नुकसान में एलर्जी भी शामिल है।
  • तेज पत्ते से बनाया गया एसेंशियल ऑयल संवेदनशील त्वचा पर एलर्जी का कारण बन सकता है।

इस लेख में आपने जाना कि तेज पत्ते के फायदे और तेज पत्ता के नुकसान क्या-क्या हो सकते हैं। इस लेख से ये निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि तेज पत्ते को मसाले के रूप में खाना लाभदायक है। इसके सेवन से कई बीमारियों से बचा जा सकता है। वहीं, अगर कोई गंभीर रूप से बीमार है, तो डॉक्टर से इलाज जरूर करवाना चाहिए। साथ ही इस बात को भी ध्यान में रखने की जरूरत है कि इसके नियमित उपयोग के दौरान अगर कोई दुष्प्रभाव दिखाई दे, तो तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए। ऐसी ही रोचक और ज्ञानवर्द्धक जानकारी के लिए Google Today के अन्य लेख जरूर पढ़ें। Thankyou

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here