अ       गर आप गर्मी के मौसम में ठंडक व ताजगी चाहते हैं, तो नारियल पानी से बेहतर कुछ नहीं है। नारियल पानी पीने से न सिर्फ गर्मी दूर भागती है, बल्कि यह सेहत के लिए भी अच्छा है। यह एकमात्र ऐसा फल है, जिससे प्राकृतिक रूप से शुद्ध मीठा पानी मिलता है। इस पानी में किसी भी तरह का केमिकल नहीं होता, इसलिए स्वास्थ्य के लिहाज से यह उत्तम है। नारियल पानी न सिर्फ गर्मी का रामबाण इलाज है, बल्कि यह कई शारीरिक समस्याओं को दूर करने में सक्षम है। Google Today के इस लेख में हम नारियल पानी के फायदे व उसकी तमाम खूबियों के बारे में चर्चा करेंगे। साथ ही नारियल पानी के नुकसान भी बताएंगे। तो चलिए, साथ में जानते हैं कि नारियल पानी पीने से क्या होता है।

नारियल पानी का उपयोग कैसे करे पूरी जानकारी 

Coconut Water पूरे साल मिलता है और इसका सेवन कभी भी किया जा सकता है। फिर भी अगर इसे पीने के सही समय का ख्याल रखा जाए, तो नारियल पानी के फायदे अधिक हो सकते हैं। इसी वजह से हम यहां इसका उपयोग और नारियल पानी पीने का सही समय बता रहे हैं।

Morning :

  • नारियल पानी पीने का सही समय सुबह खाली पेट माना गया है।
  • मान्यता है कि खाली पेट नारियल पानी के फायदे अधिक होते हैं।
  • इससे शरीर को नई ऊर्जा मिलती है।
  • हालांकि, खाली पेट नारियल पानी के फायदे के बारे में स्पष्ट शोध मौजूद नहीं है।

Before and after exercise:

  • नारियल पानी को एनर्जी ड्रिंक की तरह भी पी सकते हैं।
  • अगर आप इसे जिम जाने से पहले या एक्सरसाइज से पहले पीते हैं.
  • तो शरीर को पर्याप्त ऊर्जा मिलती है और आप बेहतर तरीके से वर्कआउट कर पाते हैं।
  • वहीं, एक्सरसाइज करने के बाद पीने से शरीर को ऊर्जा मिलने के साथ-साथ शरीर को ये हाइड्रेट भी रखता है।

Before and after Meals:

  • इसे पीने से पेट भरा हुआ लगता है।
  • इसलिए, अगर कोई वजन घटाना चाहता हैं.
  • तो इसे भोजन से तुरंत पहले पिएं, ताकि भूख कम लगे।
  • वहीं, भोजन के बाद पीने से पाचन तंत्र बेहतर होता है.
  • और भोजन को पचाने में आसानी होती है।

Before bed:

इसे सोने से पहले पीना भी लाभदायक माना गया है।

Mocktail:

  • नारियल पानी को दूसरे ड्रिंक्स के साथ मिक्स करके मॉकटेल भी बना सकते हैं।
  • इससे आपको नारियल पानी के पोषक तत्व भी मिल जाएंगे और मॉकटेल का नया टेस्ट भी बन जाएगा।

In winter:

  • कुछ लोग नारियल पानी का सेवन सिर्फ गर्मियों में ही करते हैं.
  • लेकिन ध्यान रहे कि सर्दियों में नारियल पानी के लाभ भी उतने ही होते हैं, जितने गर्मियों में।
Intresting Facts About Coconut Water

नारियल पानी का पोषण मूल्य – Nutritional value of coconut water

Nutrients Value
Water 94.99g
Energy 19 Kcal
Carbohydrate 3.71 g
Protein 0.72 g
Total Fat 0.2 g
Sugar 2.61 g
Dietary fiber 1.1 g
Calcium 24 mg
Iron 0.29 mg
Magnesium 25 mg
Phosphorus 20 mg
Potassium 250 mg
Sodium 105 mg
Zinc 0.1 mg
Copper 0.04 mg
Manganese 0.142 mg
Selenium 1 µg
Vitamins 
Vitamin – C 2.4 mg
Thiamine 0.03 mg
Riboflavin 0.057 mg
Niacin 0.08 mg
Pantothenic acid 0.043 mg
Vitamin – B6 0.032 mg
Follett 3 µg
Choline 1.1mg
Fatty acid, total saturated 0.176 g

नारियल पानी के फायदे – Benefits of Coconut

एक नारियल में औसतन 250 से 300 मिलीलीटर पानी होता है। इसमें Vitamins , Calcium , Magnesium, Potassium व Fiber जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसके अलावा, Coconut Water को Antioxidant का प्रमुख स्रोत भी माना गया है। इस लिहाज से नारियल पानी के फायदे सेहत, त्वचा व बालों को बेहतर बनाए रखने में लाभकारी है, जिसके बारे में इस लेख में विस्तार से बताया गया है। यहां प्रमाण के तौर पर विभिन्न वैज्ञानिक शोध भी दिए गए हैं, जिनमें से कुछ का परीक्षण जानवरों पर किया गया है।

नारियल पानी पीने के फायदे उपयोग और नुकसान

शारीरिक ऊर्जा के लिए नारियल पानी

  • आप तुरंत ऊर्जा पाने के लिए भी नारियल पानी पी सकते हैं।
  • शरीर को ऊर्जा देने वाले Glucose , Fructose और Sucrose शुगर इसमें पाए जाते हैं।
  • इसके अलावा कोकोनट वाटर में मौजूद एमिनो एसिड भी शरीर को ऊर्जा देने का काम कर सकता है।
  • दरअसल, एमिनो एसिड शरीर में ग्लूकोज में परिवर्तित होता है।
  • इसमें अन्य एनर्जी और स्पोर्ट्स ड्रिंक के मुकाबले 15 प्रतिशत अधिक पोटैशियम होता है।
  • इसी वजह से इसे इन ड्रिंक से अधिक प्रभावी माना जाता है।
  • एक अन्य शोध में कहा गया है कि एनर्जी ड्रिंक की जगह कोकोनट वाटर एक बेहतरीन विकल्प है।

गुर्दे की पथरी

  • कुछ लोगों को किडनी में पथरी की समस्या हो जाती है।
  • जब किडनी में क्रिस्टल जैसे पदार्थ इकट्ठा हो जाते हैं.
  • तो वो पथरी का रूप ले लेते हैं।
  • इस समस्या से जूझ रहे सभी लोगों को अधिक तरल पदार्थ पीने की सलाह दी जाती है।
  • तरल पदार्थ के रूप में नारियल पानी का सेवन भी किया जा सकता है।
  • अगर वैज्ञानिक रिसर्च की बात करें, तो एक शोध में सामने आया है कि नारियल पानी में Prophylactic प्रभाव होता है.
  • जो किसी बीमारी या समस्या से बचाने का गुण रखता है।
  • चूहों पर किए गए एक अध्ययन में सामने आया है कि नारियल पानी गुर्दे और अन्य हिस्से में जमा होने वाले किस्ट्रल को शरीर में चिपकने से रोक सकता है।
  • इससे किडनी स्टोन व अन्य स्टोन की समस्या से बचा जा सकता है।
  • इस शोध में यह भी जिक्र है कि Coconut Water का सेवन करने से पेशाब में ज्यादा क्रिस्टल भी नहीं बनते हैं।

निर्जलीकरण

  • जब शरीर में पानी की मात्रा कम हो जाती है.
  • तो निर्जलीकरण यानी डिहाइड्रेशन का सामना करना पड़ता है।
  • ऐसा गर्मियों में या फिर दिनभर पर्याप्त मात्रा में पानी न पीने के कारण होता है।
  • जैसे की हम ऊपर बता ही चुके है कि पानी की कमी को दूर करने में कोकोनट वाटर आवश्यक भूमिका निभाता है।
  • यह शरीर को पूरी तरह से हाइड्रेट करने में मदद करता है।
  • यही कारण है कि खिलाड़ी व्यायाम या फिर अभ्यास के बाद नारियल पानी जरूर पीते हैं।
 इसे भी पढ़े : 

एलोवेरा जूस के फायदे और उपयोग – Benefits and uses

हैंगओवर

  • माना जाता है कि कोकोनट वाटर पीने के फायदे में हैंगओवर को कम करना भी शामिल है।
  • एक वैज्ञानिक अध्ययन की मानें तो नारियल पानी के इस्तेमाल से एंटी हैंगओवर ड्रिंक बनाई जा सकती है।
  • शोध में कहा गया है कि इस ड्रिंक में नाशपाती 65%, मौसमी 25%
  • और नारियल पानी 10% का उपयोग करके नशा कम करने वाला पेय बनता है।
  • रिसर्च में कहा गया है कि पनीर, खीरा और टमाटर के साथ इस पेय का सेवन हैंगओवर के लक्षणों को कम कर सकता है।
  • दरअसल, अल्कोहल का सेवन करने से शरीर में पोटैशियम की मात्रा कम हो जाती है।
  • ऐसे में नारियल पानी का सेवन करने से शरीर में पोटैशियम की मात्रा को बनाए रखने में मदद मिल सकती है।

त्वचा के लिए नारियल पानी 

  • शरीर के साथ-साथ स्किन के लिए नारियल पानी के फायदे भी अनेक हैं।
  • एक वैज्ञानिक अध्ययन में कहा गया है कि नारियल पानी को त्वचा पर लगाने से मुंहासे की समस्या को कम किया जा सकता है।
  • साथ ही यह त्वचा को बढ़ती उम्र के लक्षण जैसे झुर्रियां से बचाने में भी मदद कर सकता है।
  • इतना ही नहीं यह त्वचा पर पड़ने वाले स्ट्रेच मार्क्स को भी कम कर सकता है।
  • इसके अतिरिक्त माना गया है कि नारियल पानी एग्जिमा यानी त्वचा पर होने वाली खुजली और लालिमा जैसी समस्या से राहत दिला सकता है।
  • इसके अलावा, स्किन के लिए कोकोनट वाटर के फायदे में दाग-धब्बों को कम करना भी शामिल है।
  • दरअसल, कई शोध में साबित हुआ है कि Vitamin C के प्रयोग से पिगमेंटेशन को कम किया जा सकता है
  • और नारियल पानी में विटामिन-सी भरपूर होता है।
  • ऐसे में नारियल पानी के उपयोग से त्वचा स्वास्थ्य को बनाए रखा जा सकता है।

वजन कम करने में 

  • अधिक वजन वाले लोग नारियल पानी पीकर मोटापे को नियंत्रित कर सकते हैं।
  • इसमें कैलोरी की मात्रा कम होती है.
  • जो वजन घटाने के लिए जरूरी है।
  • साथ ही इसे पीने से पेट भरा हुआ लगता है.
  • जबकि अन्य ड्रिंक के साथ ऐसा नहीं है।
  • दरअसल, कोकोनट वाटर में डाइटरी फाइबर होता है।
  • फाइबर शरीर में धीरे-धीरे हजम होता है.
  • जिस कारण जल्दी भूख नहीं लगती।
  • डायटरी फाइबर की मात्रा बढ़ाने से वजन बढ़ने का खतरा भी कम होता है.
  • लेकिन ध्यान रहे कि इसके साथ ही शारीरिक व्यायाम की भी आवश्यकता होती है।
  • वहीं, एक शोध में जिक्र है, जिसमें कहा गया है कि नारियल पानी विनेगर उच्च वसा और उच्च-फ्रुक्टोज आहार वाले पशुओं में लेप्टिन के स्तर को कम करके चयापचय क्रिया को सक्रिय करता है।
  • इससे  एडिपोज टिशू (बॉडी फेट) मास कम हो सकता है।
  • साथ ही यह शरीर में एंटी-ओबेसिटी के प्रभाव को बढ़ाता है।

मधुमेह

  • कोकोनट वाटर पीने के फायदे में डायबिटीज से बचना भी शामिल है।
  • अगर किसी के जहन में यह सवाल आए कि क्या हम मधुमेह में कोकोनट वाटर पी सकते हैं.
  •  एक रिसर्च में कहा गया है कि नारियल पानी में Antidiabetic गतिविधि होती है।
  • यह शरीर में इंसुलिन की मात्रा को बढ़ाता है.
  • जो डायबिटीज के रोगियों के लिए लाभदायक होता है।
  • इसके अलावा, यह व्यक्ति के ग्लाइकेटेड हीमोग्लोबिन के स्तर को कम कर सकता है.
  • जिसका सीधा संबंध मधुमेह से है।
  • दरअसल, इसका स्तर कम होने से डायबिटीज होने का खतरा कम हो सकता है।
  • वहीं, एक अन्य वैज्ञानिक अध्ययन में कहा गया है कि नारियल पानी में L-arginine Amino Acid होता है.
  • जो Antidiabetic गुण को प्रदर्शित करता है।
  • यह डायबिटीज से बचाने के साथ ही इसकी वजह से होने वाले ब्लड क्लॉट को भी कम करने का काम कर सकता है।
  • दरअसल, कोकोनट वाटर में Anti-thrombotic प्रभाव भी होते हैं.
  • यह गुण रक्त के धक्के को जमने से रोकता है।
  • इसलिए, कहा जा सकता है कि कोकोनट वाटर के फायदे में मधुमेह के खतरे से बचाव भी शामिल है।
  • कोकोनट वाटर में Hypoglycemic प्रभाव और Antioxidants भी होते हैं।
  • इन दोनों प्रभाव की वजह से नारियल का पानी शरीर में मौजूद ग्लूकोज की मात्रा को कम कर सकता है।

स्ट्रेस के लिए

  • ऑफिस के काम से लेकर घर की उलझनों की वजह से कई लोग तनाव ग्रस्त हो जाते हैं।
  • इससे निपटने में भी कोकोनट वाटर लाभदायक हो सकता है।
  • एक शोध में कहा गया है कि डाइट में नारियल पानी और नारियल को शामिल करने से न्यूरोलॉजिकल विकार को कम करने में मदद मिल सकती है।
  • यह मूड को लाइट करके स्ट्रेस लेवल को घटा सकता है।
  • रिसर्च में कहा गया है कि 12 औंस यानी 300 ml नारियल पानी दिन में दो बार लेने के साथ ही अन्य जूस का सेवन करने और लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव तनाव कम करने में सहायक है।

नारियल पानी बालों के लिए

  • बालों के स्वास्थ्य की बात करें, तो इसमें भी नारियल पानी को काफी फायदेमंद माना गया है।
  • Alopecia जैसी समस्या यानी गंजेपन से जूझ रहे लोगों को नारियल पानी जरूरी पोषक तत्व प्रदान कर सकता है।
  • इसकी मदद से गंजेपन की समस्या से काफी हद तक बचा जा सकता है।
  • साथ ही कोकोनट वाटर में प्रोटीन और जिंक जैसे पोषक तत्व भी पाए जाते हैं.
  • जो बालों को स्वस्थ बनाए रखने और झड़ने से रोकने के लिए जरूरी माने गए हैं।

हाइपोथायरायडिज्म

  • थायराइड ग्रंथि के पर्याप्त हार्मोंस का निर्माण न करने की स्थिति को हाइपोथायराइडिज्म कहा जाता है।
  • माना जाता है कि कोकोनट वाटर में स्वस्थ वसा की मात्रा ज्यादा होती है.
  • इसलिए यह मेटाबॉलिज्म रेट को बेहतर करके वजन कम करने में मदद कर सकता है।
  • इसमें Glucose , Amino Acid व Electrolyte जैसे गुण भी होते हैं.
  • जिस कारण से यह शरीर में ऊर्जा का स्तर बेहतर कर सकता है।
  • साथ ही आंतों की कार्यप्रणाली को बेहतर कर सकता है।
  • यही कारण है कि हाइपोथायराइडिज्म में सुधार हो सकता है।
  • हालांकि, इस संबंध में किसी तरह का भी कोई वैज्ञानिक प्रमाण मौजूद नहीं है।
  • इसी वजह से हाइपोथायराइडिज्म के लिए कोकोनट वाटर के उपयोग से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए।

रक्तचाप

  • कोकोनट वाटर के गुण में एक रक्तचाप को नियंत्रित करना भी शामिल है।
  • कई वैज्ञानिक रिसर्च में  भी यह साबित हुई है।
  • उच्च रक्तचाप वाले लोगों पर किए गए एक अध्ययन की मानें,
  • तो नारियल पानी Systolic blood pressure – रक्तचाप के ऊपर की संख्या में सुधार करता है।
  • इसके अतिरिक्त, कोकोनट वाटर में Anti thrombotic गुण होते हैं.
  • जो रक्त के थक्के बनने नहीं देते, जिससे रक्तचाप नियंत्रित रह सकता है।
  • एक अन्य शोध में भी कहा गया है कि नारियल पानी का सेवन करने से उच्च रक्तचाप वालों के ब्लड प्रेशर में 5 प्रतिशत तक की कमी आ सकती है।

पाचन तंत्र

  • कोकोनट वाटर पीने के फायदे में पाचन स्वास्थ्य भी शामिल है।
  • पाचन खराब होते ही गैस, एसिडिटी व कब्ज जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।
  • इन दिक्कतों को नारियल पानी से दूर किया जा सकता है।
  • रिसर्च में बताया गया है कि यह कब्ज के साथ ही अन्य पाचन संबंधी परेशानियों से राहत दिला सकता है।
  • इसके परिणाम स्वरूप शरीर में खाना अच्छे से पचता है।
  • शरीर में कोकोनट वाटर पहुंचते ही यह डाइजेशन टॉनिक की तरह काम करता है।
  • इस प्रकार कोकोनट वाटर पीने के फायदे की सूची में बेहतर पाचन तंत्र भी शामिल है।
Fresh Coconut Barfi in 15 Minute

नारियल पानी के नुकसान – Side Effects of Coconut Water

कोकोनट वाटर के फायदे के बारे में हम लेख में विस्तार से बता चुके हैं। क्या आपको पता है कि इसका अधिक सेवन करने से शरीर को नारियल पानी के नुकसान भी हो सकते हैं। इसी वजह से हम नीचे नारियल पानी पीने के नुकसान के बारे में बता रहे हैं.

  1. कुछ लोगों को कोकोनट वाटर पीने से एलर्जी हो सकती है।
  2. Hyperkalemia – अधिक पोटैशियम वाले मरीजों को जैसे गुर्दे की विफलता, Acute adrenal – कोर्टिसोल हार्मोन की कमी और पेशाब कम आने वाले रोगियों को नारियल पानी के सेवन से बचाना चाहिए।
  3. ऐसे लोगों को नारियल पानी के नुकसान होने का अधिक खतरा होता है।
  4. इसके अधिक सेवन से शरीर में पोटैशियम की मात्रा बढ़ सकती है.
  5. जिससे किडनी संबंधी रोग हो सकता है।
  6. कोकोनट वाटर के नुकसान में डायबिटीज का स्तर बढ़ना भी शामिल हो सकता है।
  7. जैसे कि हम ऊपर बता चुके हैं कि इसमें शुगर होता है।
  8. ऐसे में अगर मधुमेह रोगी इसका अधिक सेवन करते हैं, तो उनका शुगर लेवल बढ़ सकता है।

इस आर्टिकल को पढ़कर एक बात तो समझ आती है कि कोकोनट वाटर के फायदे बेशुमार हैं। साथ ही आपको इस सवाल का जवाब भी मिल ही गया होगा कि कोकोनट वाटर पीने से क्या होता है। ध्यान रखें कि अगर इसका सेवन सही मात्रा में और सही समय पर किया जाए, तो यह प्राकृतिक मीठा जल अमृत का काम कर सकता है। इतना ही नहीं, यह त्वचा संबंधी कई समस्याओं को भी ठीक करने की क्षमता रखता है। बेशक, कोकोनट वाटर पूरे साल मिलता है, लेकिन गर्मियों में शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए इससे बेहतर कोई पेय पदार्थ नहीं हो सकता। बस तो अब कोकोनट वाटर के फायदे और नुकसान दोनों को ध्यान में रखते हुए इसे अपनी नियमित दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं। हां, इस बात का ख्याल जरूरी रखें कि इसे गर्म न पिएं, बल्कि घर लाकर कुछ मिनटों के लिए फ्रिज में रख दें, ताकि यह पीने योग्य हो जाए। Thank you….

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here